ERROR: The form could not be loaded. Please, re-enable JavaScript in your browser to fully enjoy our services.

Drinking liquor runs from home | TiKAG

Drinking liquor runs from home

मदिरालय जाने को घर से चलता है पीनेवला,
'किस पथ से जाऊँ?' असमंजस में है वह भोलाभाला,
अलग-अलग पथ बतलाते सब पर मैं यह बतलाता हूँ -
'राह पकड़ तू एक चला चल, पा जाएगा मधुशाला

Like1 Dislike0

Add new comment